logo

Desi Gharelu Upay

depression dur karne ke gharelu upay

Plz Share

डिप्रेशन दूर करने के घरेलू उपाय ।

Depression Dur Karne Ke Gharelu upay in Hindi

आज हम आपको बताएँगे डिप्रेशन दूर करने के घरेलू उपाय, मानसिक तनाव या डिप्रेशन कैसे दूर करें इस विषय पर हम आपको पूरी जानकारी देंगे। अक्सर जिंदगी में उतार-चढ़ाव तो आते ही रहते हैं। हर इंसान किसी न किसी बात से परेशान या उदास हो ही जाता है, लेकिन यही उदासी लंबे समय तक होने लगे, तो ये डिप्रेशन का रूप ले लेती है। लाइफ में बार-बार बुरा होना या हर जगह से असफलता का मिलना भी लोगों को डिप्रेशन का शिकार बना देती है। डिप्रेशन, एक ऐसी बीमारी है जो इंसान को अंदर अंदर खोखला कर देती है। डिप्रेशन इंसान की जिंदगी की हर खुशी, हर उम्मीद को छीन लेता है। डिप्रेशन एक  अंधेरी सुरंग के जैसा है, जिससे गुजरने वाला ही ये बता पाता है कि भीतर कितना अकेलापन है।

इसे भी पढ़ें : सिरदर्द के घरेलू उपाय - सिरदर्द के घरेलू उपचार

डिप्रेशन से परेशान इंसान चाहता है कि वह इससे उबर जाये लेकिन ऐसा अक्सर हो नहीं पाता है वह इसलिए कि डिप्रेशन का शिकार हुआ इंसान ज्यादातर अकेला रहना पसन्द करने लगता है वह अपनी परेशानियों को दूसरों से छिपाने की कोशिश करने लगता है जिसकी वजह से उसके करीबी लोग भी उसके संघर्ष , उसके दुःख दर्द को कभी समझ ही नहीं पाते । और वह इंसान धीरे धीरे और भी डिप्रेशन का शिकार होता चला जाता है। इंसान की सोचने-समझने की शक्ति खत्म होने लगती  है। कोई भी व्यक्ति डिप्रेस्ड की अवस्था में अपने आपको लाचार और निराश महसूस करता है। यदि आपको ऐसा लगता है कि आप डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं तो तुरंत अपने करीबी लोगों को इसके बारे में बताएं और उनसे अपनी समस्या को शेयर करें  । साथ ही और यहाँ पर कुछ उपाय बता रहा हूँ उनको करने से आपको डिप्रेशन से जल्द ही छुटकारा मिल जायेगा।


डिप्रेशन दूर करने के घरेलू उपाय ।

Depression Dur Karne Ke Gharelu upay in Hindi

1. खुद को व्यस्त रखें : डिप्रेशन से निपटने के लिए सबसे पहला काम यही करें कि खुद को व्यस्त रखने का तरीका ढूंढें। डिप्रेशन से परेशान शख्स अक्सर निराशावादी और हताश हो जाता है। कहते है कि खाली दिमाग सैतान का घर होता है ऐसी कहावत है और कहीं न कहीं यह सच भी है जितना आप अपने आप को खाली रखेंगे उतने ही कई तरह के सवाल आपके मन में आएंगे और जिनसे परेशान होकर आप हताश और निराशा की ओर बढ़ जाते है और वही अंत में डिप्रेशन की वजह बन जाता है इसलिए जरूरी है कि फिजूल की बातों को खुद पर हावी न होने दें और अपने आप आप को किसी न किसी काम में व्यस्त रखे ।

2. अपनी ताकत को पहचानें : डिप्रेशन का शिकार इंसान अक्सर अपनी ताकत और अच्छाइयों को भुला बैठता है। वह दूसरों को अपने से ज्यादा अच्छा और काबिल मानने लगता है जिससे उस व्यक्ति के अंदर हीन भावना उत्पन्न होने लगती है जो आगे चलकर डिप्रेशन का कारण बन जाती है इसलिए कभी भी अपने आप को कम या गिरा हुआ नहीं समझना चाहिए अपने अंदर छुपे हुए टैलेन्ट को उभारना चाहिए।  

इसे भी पढ़ें : रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय

3. पॉजिटिव लोगों के साथ रहें : डिप्रेशन का शिकार व्यक्ति निराशावादी हो जाता है ऐसे में उसे चाहिये कि वह ऐसे लोगों के साथ में रहे जो आशावादी हों।  अगर आपकी कोई समस्या है तो उसका समाधान आपको बताएं और हर संभव आपका साथ दें।  

4. नए दोस्त बनाएं : कई बार ऐसा भी होता है कि हम नए दोस्त नहीं बनांते है जो दोस्त पहले से हैं बस उन्ही तक सीमित रहते हैं और जब वो दोस्त आपसे किसी कारण वश अलग हो जाते हैं या आपको समय नहीं दे पाते हैं तब आप अपने आप को अकेला महसूस करने लगते हैं ऐसे में आपको नए दोस्त भी बनाने चाहिए जो आपको कभी अकेलापन का अहसास ना होने दें।  

5. मनचाहा भोजन करें : जब भी आपको लगे कि डिप्रेशन आप पर हावी हो रहा है तो उस वक़्त आपको अपना मनपसंदीदा खाना खाना चाहिए क्यूंकि डिप्रेशन के शिकार लोगों की भूख-प्यास मिट जाती है। इसीलिए, डिप्रेशन को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए आपको मनपसंदीदा खाना खाना चाहिए जिससे डिप्रेशन आप पर हावी नहीं हो पायेगा ।

6. पूरी नींद लें : एक अच्छी और पूरी रात की नींद हमें सकारात्मक ऊर्जा से भर देती है. अध्ययनों से पता चला है कि रोज़ाना 7 से 8 घंटे सोने वाले लोगों में डिप्रेशन या अवसाद के लक्षण कम देखे जाते हैं. इसलिए व्यस्तता के बावजूद अपनी नींद से समझौता बिल्कुल ना करें।

इसे भी पढ़ें : नींद आने के घरेलू उपाय

7. ख़ुद को लोगों से दूर न करें : अक्सर ये भी देखा गया है कि डिप्रेशन से ग्रस्त लोग अपने आप को दुनिया से दूर कर लेते हैं वो लोगों से मिलना जुलना बहुत कम कर देते हैं लेकिन ऐसा करने से आप डिप्रेशन (अवसाद) को फलने-फूलने का मौक़ा खुद देते हैं।  ऐसे में आपको चाहिए लोगों के सम्पर्क में रहें यदि आप उनसे अपनी समस्या शेयर नहीं करना चाहते हैं  तो किसी मनोचिकित्सक से सलाह लें. इससे अवसाद की जड़ तक जाने और इसे दूर करने में मदद मिलेगी।  

8. Sad Song ना सुने बल्कि रोमांटिक सांग सुने : जब लोग अवसादग्रस्त होते हैं तो अच्छा संगीत सुनकर उन्हें अच्छा लगता है. यह तथ्य कई वैज्ञानिक शोधों द्वारा प्रमाणित हो चुका है. तो जब भी मानसिक रूप से परेशान हों तो अपना पसंदीदा गाना सुनें. इससे आपका मूड बदलेगा और अच्छा महसूस करेंगे।  वस एक चीज का ख़्याल रखें, ज़रूरत से ज़्यादा ग़म में डूबे हुए गाने न सुनें, क्योंकि ऐसा करने से आपका डिप्रेशन अगले लेवल पर पहुंच जाएगा।  

9. कॉमेडी फिल्में देखे : अगर आप  डिप्रेशन से जूझ रहे हैं तो आपको अपना मूड अच्छा करने के लिए कॉमेडी वाली फिल्में देखनी चाहिए जिससे आप खुशी का अहसास करेंगे और डिप्रेशन से उबर पाएंगे।  

10. पुरानी बातों को सोंच कर पछतावा ना करें : अक्सर लोग पुरानी बातों को सोंच कर पछताते हैं और अपने आप को ही दोषी  मानने लगते हैं। इस कारण भी  डिप्रेशन आप पर हावी बना रहता है इसलिए पुरानी बातों को सोंच कर पछतावा नहीं चाहिए ।  

इसे भी पढ़ें : नौकरी पाने के अचूक एवं सरल उपाय

11. रोजाना व्यायाम करें : एक्सरसाइज करने से शरीर में सेरोटोनिन और टेस्टोस्टेरोन हारमोंस का स्त्राव होता है जिससे दिमाग स्थिर होता है और डिप्रेशन देने वाले बुरे विचार दूर रहते हैं।

12. दूध का सेवन करें : कहा जाता है कि तनाव को दूर करने के लिए बादाम के साथ दूध पीना चाहिए। कम से कम 5 बादाम खाकर एक गिलास दूध का सेवन जरूर करें इससे आपको तनाव से राहत मिलेगी।  

13. बाहर टहलने जाएं : रोज बाहर टहलें, कभी-कभी कॉफी शॉप में कुछ समय बिताएं या बाहर खाना खाने जाएं। इससे मन में उत्साह बना रहेगा।

14. मसालेदार चीजों से परहेज : डिप्रेशन से पीड़ित रोगी को तली-भुनी चीजें, मिर्च- मसालेदार चीजें, मैदा, चीनी तथा दूषित भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए।

15. समाज से जुड़े रहें : अपने लिए समय निकालें और सामाजिक मेलजोल बढ़ाएं तथा दोस्तों और परिवार के साथ समय बिताएं ।

इसे भी पढ़ें : व्यापार में सफलता पाने के अचूक उपाय

16. धुम्रपान से बचें : धुम्रपान और शराब को अपने आप से दूर रखें और समय-समय पर डॉक्टर से सलाह लेते रहें।

17. सूरज की रोशनी : प्रतिदिन सूरज की रोशनी में कुछ देर जरूर रहें। इससे अवसाद जल्दी हटेगा ।

कोरोना वायरस से बचने के उपाय >>

Top