logo

Desi Gharelu Upay

kaun sa dry fruit kis bimari me fayda krta hai

Plz Share

कौन सा ड्राई फ्रूट्स किस बीमारी में फायदा करता है

Kaun Sa Dry Fruit Kis Bimari Me Fayda Krta Hai in Hindi

दिन की शुरुआत ड्राई फ्रूट यानी कि सूखे मेवों से की जाए तो यह आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है।  सूखे मेवे में ताजे फलों की अपेक्षा अधिक पौष्टिक गुण होते हैं। उनमें जरूरी विटामिन और खनिज होते हैं जो हमारे शरीर को कई प्रकार की बीमारियों से बचाने में मदद करते हैं। जहाँ ड्राई फ्रूट यानी कि सूखे मेवे हमारे शरीर के लिए वरदान साबित होते हैं वहीँ अज्ञानतावश इनका गतल तरह से सेवन करना या गलत मौसम में इनका अत्यधिक सेवन करना आपको मुसीवत में भी डाल सकता है। वैसे तो ज्यादातर मेवों की तहसीर गर्म होती है इसलिए शर्दियों में इनका सेवन करना उचित समय माना गया है।  ऐसा नहीं है कि गर्मियों में कोई भी ड्राई फ्रूट नहीं खा सकते इसके लिए आपको मौसम के हिसाब से उचित सूखे मेवों को चयन करना है और उनकी मात्रा का भी खयाल रखना जरुरी है।

इसे भी पढ़ें : रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय

गर्मियों के मौसम में गर्म तहसीर वाले ड्राई फ्रूट (सूखे मेवे) बहुत कम मात्रा में खाने चाहिए जैसे बादाम, अखरोट, काजू इत्यादि । बादाम को शाम को पानी में भिगो देना चाहिए और अगले दिन सुबह उसका सेवन करना चाहिए।


ड्राई फ्रूट्स के फायदे हिंदी में

Dry Fruits Ke Fayde Hindi Me

काजू : काजू में 82 प्रतिशत फैट, अनसैचुरेटेड फैटी एसिड होता है और इसमें से 66 प्रतिशत अनसैचुरेटिड फैटी एसिड स्वस्थ दिल के लिए मोनोअनसेचुरेटिड फैट होता है। इसके अलावा, काजू आयरन, मैग्नीशियम और जिंक का अच्छा स्रोत है. आयरन कोशिकाओं में ऑक्सिजन पहुंचाने का काम करता है, जो कि अनीमिया से बचाता है। मैग्नीशियम याददाश्त सुधारने में मदद करता है और बढ़ती उम्र में खोने वाली याददाश्त से बचाता है। काजू खाने से पित्त की पथरी होने का खतरा भी 25% तक कम हो जाता है। इसकी तहसीर गर्म होती है इसलिए गर्मियों में इसका कम मात्रा में सेवन करें।

इसे भी पढ़ें : विटामिन की कमी से होने वाले रोग

बादाम : बादाम आपकी हेल्थ के लिए बहुत अच्छा होता है दूसरे नट्स के मुकाबले इसमें सबसे ज़्यादा फाइबर होता है. यह विटामिन ई से भरपूर होता है, जो कि एक शाक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट है. साथ ही, शानदार तरीके से बादाम से वजन भी घटाया जा सकता है। जो कि हार्ट अटैक के खतरे को कम करने में सहायक है। बादाम के नियमित सेवन से आपका ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रहता है। खासतौर पर 30 से 70 साल के बीच के पुरुषों को रोजाना बादाम खाने चाहिए ।

किशमिश : किशमिश से रक्त संचार नियंत्रित करने में मदद मिलती है। किशिमिश के सेवन से आंखों को हमेशा तरोताजा रखने, दातों की बीमारियों से बचे रहने और त्वचा को जवां रखने में मदद मिलती है। इसके सेवन से आप अपना वजन भी कम कर सकते हैं क्योंकि ये ड्राई फ्रूट्स भूख वाले हार्मोन को नियंत्रित कर देते हैं जिससे आप कम कैलोरी का सेवन कर पाते हैं।

इसे भी पढ़ें : चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने के घरेलू उपाय

अखरोट : विभिन्न न्यूट्रिशन तत्व और एंटी ऑक्सीडेंट तत्वों से भरपूर अखरोट में बीमारियों से लड़ने की क्षमता पाई जाती है। विशेषज्ञों के अनुसर अखरोट खाने से दिमाग तेज़ भी होता  और साथ ही आपका वज़न भी कंट्रोल में रह सकता है। यह एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं, जो कि कोशिकाओं को नुकसान, हार्ट संबंधी बीमारियां, कैंसर, जल्दी बुढ़ापा आ जाना जैसी समस्याओं से बचाने में मदद कर सकते हैं. यही नहीं, इनमें ओमेगा 3 फैटी एसिड भी काफी मात्रा में होता है, जो कि आपकी बॉडी के लिए अच्छा होता है।  

छुहारे : छुहारा में भरपूर मात्रा में मिनरल्स और विटामिन पाए जाते हैं जो ऑक्सीजन के साथ मिल कर शरीर की कैलरी बर्न करने में मदद करता है और ऊर्जा का उत्पादन कर शरीर को गर्म रखता है। इसके नियमित सेवन से रोग-प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है और संक्रामक रोगों से बचाव होता है।

इसे भी पढ़ें : नींद आने के घरेलू उपाय

अंजीर : अंजीर का सेवन करने से कब्ज़ की बीमारी में राहत मिलता है साथ ही इसका सेवन करने से शरीर में शक्ति का निर्माण होता है आपके शरीर में ताकत आती है अगर कोई पहले से ही काफी ताकतवर है तो ऐसे व्यक्ति को इसका सेवन करने से बचना चाहिए।  2-3 सूखे हुए अंजीर लें और एक ग्लास दूध में डालकर उबालें फिर इसे पी लें। इसमें पाए जाने वाला फाइबर आपको कब्ज़ जैसी बीमारियों से दूर रखता है।

पिस्ता : पिस्ता के सेवन से डायबिटीज में होने वाले दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर, पोटैशियम और एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता  हैं। पिस्ता पाचनतंत्र के लिए भी रामबाण है लेकिन ध्यान रहे इसका साधारण मात्रा में ही सेवन करें, क्योंकि बादाम की तरह ही इसकी तासीर भी काफी गर्म होती है जो अधिक सेवन से पेट में गर्मी पैदा कर सकती है।

इसे भी पढ़ें : मोटापा कम करने के घरेलू उपाय

खजूर : खजूर में बहुत अधिक मात्रा में आयरन पाया जाता है जो आपको एनीमिया जैसी बीमारी से बचाते हैं। यह दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए भी काफी मददगार साबित हुआ है। लगभग 100 मिलीग्राम खजूर से 656 मिलीग्राम पोटैशियम मिलता है जो आपको दिल से जुड़ी बीमारियों और स्ट्रोक के खतरे से बचाने में मदद करता है।

Note : इन सभी चीजों का सेवन बहुत अधिक मात्रा में ना करें। अपने विवेकानुसार इसकी मात्रा को चुने और सेवन करें ।

कोरोना वायरस से बचने के उपाय >>

Top