logo

Desi Gharelu Upay

pathri-ke-gharelu-upchar

Plz Share

पथरी के घरेलू उपाय एवं उपचार

आजकल पथरी की समस्या आम बात होती जा रही है ज्यादातर लोग इस रोग से ग्रसित होते जा रहे हैं। आजकल जिसको देखो वही पथरी की समस्या से परेशान हैं। दरअसल यह हमारे गलत खान-पान और पानी कम पीने के कारण हो जाती हैं। इसमें पेशाब गाढ़ा होने लगता हैं, और उसमे छोटे-छोटे कण बनना शुरू हो जाते हैं जो बाद में बढ़ कर पथरी का रूप धारण कर लेते हैं। पथरी के छोटे-छोटे कण मूत्र के जरिये बाहर निकल जाते है परन्तु जब ये छोटे छोटे कण पानी कम पीने की वजह से पेशाब के द्वारा बाहर नही निकल पाते है और एकत्र हो जाते है तो ये बड़ी पथरी का रूप ले लेते है जोकि पेशाब के जरिये बाहर नहीं निकल पाती है और पेशाब निकलने के रास्ते में फसने लगती है उस दौरान पेशाब करने में बहुत दर्द होता और जलन भी होती है।

इसे भी पढ़ें : पेट में पथरी होने के कारण

कभी-कभी तो काफी दर्द होता हैं। और कई बार तो पेशाब रुक भी जाता हैं। कभी कभी पेशाब में खून के अंश भी दिखाई देते हैं। पथरी की समस्या किसी भी इंसान को कभी भी हो सकती हैं। इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को भरपूर पानी पीना चाहिए । अगर किसी इंसान को दुर्भाग्यवश पथरी की समस्या हो जाती है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएँ और साथ ही घरेलू उपचार भी करते रहे । हम यहाँ पर आपको पथरी से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपाय और उपचार बता रहे हैं जिनसे आपको काफी आराम और फायदा मिलेगा ।

इसे भी पढ़ें : पथरी होने के लक्षण

पथरी को दूर करने के लिए आपको हर रोज ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए ।

आयुर्वेद के अनुसार सेब का रस पथरी के लिए काफी फायदेमंद इलाज है इसके नियमित सेवन से भी पथरी से बचा जा सकता है।

नारियल पानी (coconut water) का नियमित रूप से ज्यादा से ज्यादा सेवन करें।

नियमित गन्ने को चूसकर सेवन करने से भी लाभ मिलता है।

इसे भी पढ़ें : पथरी का होमियोपैथिक उपचार, इलाज

छाछ यानी कि मट्ठा भी पथरी को पेशाब के जरिये बाहर निकालने में मदद करता है।

किसमिस (raisins) भी पथरी को दूर करने में काफी मदद करता है।

करेले की सब्जी और करेला के जूस का नियमित सेवन करें।

इलाइची का रोजाना सेवन करें, इससे भी पथरी टूटकर पेशाब के जरिये बाहर निकालने में कारगर होती है ।

इसे भी पढ़ें : पथरी का आयुर्वेदिक इलाज, उपचार

आंवला भी पथरी में बहुत फायदा करता है। आंवला का चूर्ण मूली के साथ खाने से मूत्राशय की पथरी निकल जाती है।

पका हुआ जामुन भी पथरी से निजात दिलाने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए जामुन का भी सेवन करना पथरी में निजात दिलाता है।

जामुन की गुठलियों को पीसकर चूर्ण बना लें और इसका दही के साथ मिलाकर सेवन करें । कुछ इसका सेवन करने से पथरी गलकर बाहर निकलने लगती है।

इसे भी पढ़ें : गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) में परहेज

तुलसी का रस लेने से भी पथरी को यूरीन के रास्ते निकलने में मदद मिलती है. कम से कम एक महीना तुलसी के पतों के रस को शहद के साथ लेने से बहुत लाभ मिलता है।

प्याज भी पथरी के इलाज के लिए रामबाण उपाय माना गया हैं। एक बड़ा प्याज या छोटे छोटे दो प्याज (लगभग 70 ग्राम) प्याज को पीसकर और उसका रस निकाल कर सुबह, शाम खाली पेट नियमित सेवन करने से पथरी छोटे-छोटे टुकडे होकर निकल जाती है।

जीरे और चीनी को समान मात्रा में पीसकर एक-एक चम्मच ठंडे पानी से रोज तीन बार लेने से लाभ होता है और पथरी निकल बाहर निकल जाती है।

loading...
Top